Amit Shah की जीवनी | Biography of Amit Shah in Hindi

Amit Shah का जन्म Gujrat के  पाटन जिले के चंदूर में सन 1964 को को हुआ था। फिलहाल अमित शाह भारतीय जनता पार्टी (BJP) में अध्यक्ष के पद पर कार्य कर रहे है। साल 2019 में Narendra Modi की सरकार में अमित शाह को देश के गृह राज्य मंत्री का पदभार दिया गया है।

Amit Shah and Prime minister Narendra Modi

Amit Shah ने अपने दम पर भारतीय जनता पार्टी को बहुत सी ऐसी जगहों से भी जीत दिलाई है जहां से जीत पाना नामुमकिन लगता था। इस आर्टिकल में हम अमित शाह के सम्पूर्ण जीवन (Amit Shah Complete Biography in Hindi) के बारे में जानेंगे। उम्मीद है इस लेख में दी जानकारी आपको पसंद आयेगी।

नाम – अमित शाह
जन्म तिथि – 22 अक्टूबर 1964
पिता का नाम – अनिल चंद्र शाह
माता का नाम – कुशुम बेन शाह
पत्नी का नाम – सोनल शाह
कुल बच्चे – एक लड़का (जय शाह)
पार्टी नाम – भारतीय जनता पार्टी
काम – राजनेता
वजन – लगभग 82 किलोग्राम
लंबाई – 5 फुट 6 इंच
धर्म – हिन्दू
बालों का रंग – सफेद
संपत्ति – लगभग 35 करोड़ (2014 के नामांकन के अनुसार)

Amit Shah का जन्म और शिक्षा | Amit Shah Biography

जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि अमित शाह का जन्म साल 1964 में गुजरात के मेहसाणा में हुआ था। अमित शाह ने अपनी शुरुआती पढ़ाई मेहसाणा से ही कि थी। अमित शाह होनहार छात्र थे और साइंस के विषय मे अधिक रुचि ये कारण इनका सब्जेक्ट भी साइंस ही था।  अमित शाह ने अहमदाबाद से सी यू शाह साइंस कॉलेज बायोकेमेस्ट्री विषय मे BSc की डिग्री हासिल की है।

Amit Shah

अमित शाह कॉलेज के दिनों में ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संध के छात्र विंग के सदस्य थे। उस समय उनकी उम्र 18 साल ABVP की थी। अमित शाह भारतीय जनता पार्टी में पढ़ाई के बाद में सन 1987 में शामिल हुये।

Amit Shah का पारिवारिक परिचय | Amit Shah Jivni in Hindi

अमित शाह का पूरा नाम अमित अनिल चंद्र शाह है। एक परिवार गुजराती है जो कि बनिया जाती से आते हैं।  अमित शाह के दादा मनसा के नगर सेठ हुआ करते थे ओर इनके पिता अनिल चंद्र शाह मनसा में ही PVC Pipe का बिज़नेस किया करते थे। अमित शाह के एक लड़का है जिसका नाम जय शाह है। जय शाह ने निरमा विश्विद्यालय से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की हुई है।

Amit Shah का राजनैतिक सफर | Amit Shah Biography in Hindi

Amit Shah ने अपना राजनैतिक सफर साल 1983 में RSS की Student Wings से शुरू किया था। उन्होंने Bhartiya Janta Party साल 1987 में जॉइन की थी। 1987 में अमित शाह भारतीय जनता युवा मोर्चा के एक्टिविस्ट बने। इस विंग में रहते हुये ही अमित शाह ने वार्ड सेक्रेटरी, वाईस प्रेसिडेंट ओर जनरल सेक्रेटरी के पदों का कार्यभार बखूबी निभाया।

साल 1991 के लोकसभा चुनावों में अमित शाह को चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी दी गई थी जिसे बहुत ही बेहतरीन तरीके से इन्होंने निभाया था। अमित शाह को पहली बार भारतीय जनता पार्टी से विधानसभा चुनाव के लिये सरखेज छेत्र से टिकट मिला और इन्होंने वहां से भारी मात्रा में वोट हासिल कर जीत दर्ज की थी। इसके बाद अमित शाह सरखोज से ही तीन बार ओर जीते।

साल 1995 में, भाजपा ने गुजरात मे अपनी पहली सरकार केशुभाई पटेल को मुख्यमंत्री बनाकर बनाई। उस समय भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों में अत्यधिक प्रभावशाली हुआ करती थी। नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने गुजरात के ग्रामीण इलाकों में कांग्रेस को बिल्कुल खत्म करने के लिए मिलकर काम किया।

Amit Shah Family

दोनों की रणनीति के तहत हर गांव में बीजेपी के अलावा दूसरे सबसे प्रभावशाली नेताओं को खोजने और उन्हें उस पार्टी से तोड़कर भाजपा में शामिल करने की थी। आपको बता दें कि दोनों ने मिलकर 8,000 प्रभावशाली ग्रामीण नेताओं का एक नेटवर्क बनाया, जो अलग अलग गांवों में प्रधान पद के लिए चुनाव हार गए थे।

नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने गुजरात राज्य की सभी सहकारी समितियों पर कांग्रेस पार्टी के प्रभाव को कम करने के लिए एक ही लेकिन कारगर रणनीति का इस्तेमाल किया, ओर उस रणनीति ने राज्य की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। साल 1999 में अमित शाह को अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था।

इसके अलावा अमित शाह साल 2009 में Gujrat के क्रिकेट संध के उपाध्यक्ष भी बने। 2014 में जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुने गये उस समय अमित शाह गुजरात क्रिकेट संध के अध्यक्ष बने। साल 2014 में ही अमित शाह को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की पदवी भी दी गई।

2019 में Amit Shah द्वारा बहुत से बड़े बड़े फैसले लिये गये जैसे कि NRC का मुद्दा था, जम्मू कश्मीर में धारा 370 को हटाना ओर छत्तीसगढ़ का नक्सलवाद का मुद्दा आदि। अमित शाह ने हर मोर्चे पर अपने आप को साबित किया है। हालांकि इनके जीवन के साथ बहुत से विवाद भी जुड़े रहे हैं जैसे :

◆ 2005 का गुजरात फ़र्ज़ी एनकाउंटर का विवाद

◆ गुजरात मे हुये दंगों के सबूत साफ करने का विवाद

◆ 2009 में महिला की जासूसी करने का विवाद

अमित शाह के जीवन से जुड़े रोचक तथ्य | Intresting Facts About Amit Shah

◆ अमित शाह पहली बार नरेंद्र मोदी से RSS द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में 1982 में मील थे।

◆ अमित शाह को जेड प्लस सुरक्षा मिली हुई है जिसमे 25 कमांडो हर वक्त उनकी सुरक्षा करते है।

◆ अमित शाह ने अपने जीवन मे राजनीति के अलावा स्टॉक ब्रोकर का कार्य भी किया है। या बात उनके कैरियर के शुरुआती दिनों की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.